July 27, 2021

जनोदय टाइम्स

भारत सरकार द्वारा पंजीकृत :: Janodaya Times

जम्मू की कोट भलवाल जेल बनी गैंगस्टरों के लिए अय्याशी का अड्डा मैच का आयोजन बर्थडे पार्टी, और फोटोशूट, कर करी जा रही मौज

जम्मू की कोट भलवाल जेल गैंगस्टरों के लिए अय्याशी का अड्डा बन गई है।सूत्रों के अनुसार कुछ दिन पहले एक गैंगस्टर का जन्मदिन था, जिसकी जेल में पार्टी की गई। जेल में एक मैच हुआ। मैच के बाद जेल में बंद सन्नी बाबा और रायल सिंह ने अन्य गैंगस्टरों के साथ मिलकर तस्वीरें खींची। हालांकि ये दोनों गैंगस्टर एक-दूसरे के खिलाफ रहे हैं, लेकिन इनका एक साथ होना और फोटो खींचकर वायरल करना पुलिस महकमे को काफी खटका और इसके बाद ही जेल में छापामारी की गई। यह फोटो कई पुलिस अफसरों के पास भी पहुंच गईं, इसके बाद एडीजीपी जम्मू मुकेश सिंह ने सीआईडी के साथ मिलकर कार्रवाई की।
कुछ दिन पहले ही जेल में बंद गैंगस्टर सन्नी बाबा और अमनदीप हत्याकांड में शामिल रायल सिंह ने पार्टी मनाई। इसकी तस्वीरें भी खींची गईं। इन तस्वीरों में सांबा और अन्य जिलों के गैंगस्टर भी दिखे। तस्वीरें वायरल के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मचा। शायद यही कारण है कि गुरुवार को सीआईडी को कार्रवाई करनी पड़ी।

कुछ महीने पहले नागर सिंह उर्फ नागो के घर पर हुए हमले में पुलिस ने 15 हमलावरों के खिलाफ केस दर्ज किया। इस हमले की प्लानिंग रायल सिंह ने जेल में की थी। उसने एक जेल कर्मी के साथ मिलकर प्लान बनाया और अपने गुर्गों से हमला करवाया। रायल सिंह अमनदीप हत्याकांड में शामिल है। उसने नागर सिंह के बेटे के साथ मिलकर अमनदीप की हत्या की थी।

पुलिस ने 11 अप्रैल 2020 को कोट भलवाल जेल में बंद जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी अब्दुल रहमान मुगल से भी मोबाइल फोन और सिम कार्ड बरामद किया था। दरअसल, इसके एक दिन पहले ही पुलिस ने आरएस पुरा के चकरोई गांव से जैश-ए-मोहम्मद के ओजी वर्कर हंदवाड़ा के रहने वाले मोहम्मद मुज्जफर बेग को पकड़ा था। जिसका कनेक्शन जेल में बंद उक्त आतंकी से था। इसके बाद पुलिस ने जेल में छापा मारकर अन्य कैदी फरहान फैयाज निवासी बारामुला और आरएस पुरा के रहने वाले दीपक सिंह के पास से मोबाइल फोन और सिम कार्ड समेत चार्जर, हेडफोन और मेमोरी कार्ड भी बरामद किए। अभी तीन महीने पहले ही सीआईडी ने जेल में छापा मारकर सात मोबाइल फोन बरामद किए थे। अब यह तीसरी घटना है।